युवा सशक्तिकरण अनुरक्षण बल का गठन

 



देवास। पंचमड़ी म.प्र. में तीन दिवसीय व्यक्तित्व विकास शिविर के आयोजन के साथ युवा सशक्तिकरण अनुरक्षण बल की स्थापना की गई। संस्थापक एवं मुख्य संचालक विजेन्द्र खरसोदिया ने बताया कि स्वामी विवेकानंद जी जो कि युवाओं के प्रेरणा स्त्रोत रहे है और आज भी युवाओं के लिये उनके द्वारा कही गई एक  एक बात युवाओ में ऊर्जा भर देती है। जिसमें मुख्यत: उठो, जागो और तब तक रूको नहीं, जब तक लक्ष्य प्राप्त न हो जाए। हमारा कर्तव्य है कि हम किसी को उसका उच्चतम आदर्श जीवन जीने के संघर्ष में प्रोत्साहित करें और साथ ही उस आदर्श को सत्य के जितना निकट हो सके लाने का प्रयास करें। बस यही शब्द, यही विचार और इसके भाव युवा सशक्तिकरण अनुरक्षण बल का ध्येय बन जाते हैं। युवा सशक्तिकरण, अनुसरण बल की हर गतिविधि का एक ही केन्द्र बिंदु है राष्ट्र धर्म, हमारा हर एक सदस्य इस ध्येय के लिये समर्पित है। युवा को सशक्त कर ही राष्ट सशक्त हो पाता है। युवा सशक्तिकरण अनुसरण बल राष्ट्रीय, अंतर्राष्ट्रीय व राज्य से लेकर ग्राम स्तर पर हर वर्ग, तबके के लियेे ध्येय को पहुंचाने हेतु कर्तव्यबद्ध है। एक कर्मट व सशक्ट टीम बनाने के लिये युवा सशक्तिकरण अनुसरण बल समय समय पर प्रशिक्षण कैंप, सेमिनार, जागरूकता अभियान व कार्यक्रम एवं अन्य गतिविधियां संचालित करता है। विभिन्न क्षेत्रों की सम्मानित प्रतिभाओं एवं विशेषज्ञों का मार्गदर्शन हमें प्राप्त होता है। युवा सशक्तिकरण अनुरक्षण बल शासकीय एवं अशासकीय उपक्रमों से सम्बद्ध होकर विभिन्न क्षेत्रों जैसे लोक सेवा, संस्कृति, फिल्म, टेलीविजन, महिला व बाल विकास, रेलवे, अपराध रोधी, गतिविधियों, कृषि विकास, शहरी एवं ग्रामीण, स्वास्थ्य, खेल एवं युवा कल्याण, पर्यावरण सामाजिक न्याय व सशक्तिकरण, अनुरक्षण बल के सर्वाधिक सक्रिय क्षेत्र हैं, जिनमें इसके सदस्य पिछले कई वर्षो से अपनी उल्लेखनीय भूमिका का निर्वहन करते आ रहे हैं। संस्था के मुख्य निदेशक विजेन्द्र खरसोदिया ने बताया कि युथ सशक्तिकरण अनुरक्षण बल 37 अलग अलग विभागों में विभाजित किया गया है जिसमें हमारे युवा कार्य करके छुपी हुई प्रतिभाओं को निखारकर राष्ट्र विकास के कार्यो में सहयोग प्रदान करेंगे एवं राष्ट्रीय स्तर से लेकर ग्रामीण स्तर तक महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए महिला आत्मरक्षा एवं स्वास्थ्य जागरूकता अभियान को शक्ति अभियान के रूप में संचालित करेंगे। तीन दिवसीय व्यक्तित्व विकास शिविर में मध्यप्रदेश के अलावा महाराष्ट्र, गुजरात, दिल्ली, बिहार, छत्तीसगढ, उ.प्र., राजस्थान सहित 8  राज्यों के युवाओं ने भाग लिया। इन युवाओं को विजेन्द्र खरसोदिया, सम्पत सोलंंकी, प्रेम परमार, जय बघेल, सहज सरकार, रजनीश साहू, राजेश कुमार पहलवान, संतोष सोलंकी, रोहिणी कलम, शशांक मान्डेलकर, इंद्रदेव शर्मा द्वारा अलग अलग क्षेत्रों में जैसे आत्मरक्षा, ट्रेकिंग, शूटिंग, ड्रिल, रॉक, क्लाइविंग, एडवेंचर, स्पोर्ट्स, मेमोरी टेक्निक्स  प्रोग्राम, आपदा प्रबंधन के बारे में प्रशिक्षण दिया। जल्द ही देश के सभी राज्यों में युवा सशक्तिकरण अनुरक्षण बल का गठन किया जाएगा।


Comments

Popular posts from this blog

श्री शिवाय नमस्तुभ्यं मंत्र का करें जाप हो जायेगा जीवन का कल्याण

पहले दोनों हाथ काटे, फिर फंदे पर झुलाया और ऐसे बाप ने उतार दिया बेटे को मौत के घाट ! जघन्य हत्याकांड में काम आई पुलिस की स्मार्ट पुलिसिंग ! First cut off both hands, then hanged him on the noose and such a father put his son to death! Smart policing of the police came in handy in the heinous murder case!

क्या आपका वाहन भी हुआ है चोरी, देखें कहीं आपका वाहन तो नही है लिस्ट में.... पुलिस ने जारी की चोरी के पकड़े गए वाहनों की सूची