देवास शहर के विकास हेतु प्रस्तावित मिनी सुपर कारिडोर योजना .... देवास ओद्योगिक क्षेत्र से नागूखेडी उज्जैन रोड पर मिलेगा कारिडोर Dewas super Corridor News



देवास। प्रदेश की प्रमुख नगरी देवास के विकास में एक और बड़ा सितारा लगाये जाने हेतु तथा देवास शहर को विकास की ओर अग्रसित करने हेतु देवास ओद्योगिक क्षेत्र से नागूखेडी उज्जैन रोड पर मिलेगा कारिडोर। इस योजना से टाटा एक्सपोर्ट से उज्जैन रोड तक लगभग 5.2 किमी लम्बे एमआर 10 कारिडोर का विकास किया जाएगा। जो 45 मीटर चौडा 6 लेन कारिडोर होगा। योजना के मास्टर प्लान के अनुसार कारिडोर के दोनों ओर 150 मीटर चौड़ी रोड व्यावसायिक और मिक्सड यूज के तौर पर उपयोग हेतु विकसित होगी। 

विकास प्राधिकरण चेयरमेन चंद्रमौली शुक्ला एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी विशालसिंह चौहान के साथ अमोना, बिंजाना, बीराखेडी, मेंढकीचक, नागूखेडी एवं अन्य किसान बंधुओं की उपस्थिति में एक सेमीनार होटल रामाश्रय में आयोजित किया गया। जिसमें मिनी सुपर कारिडोर के बारे में विस्तृत जानकारी उपस्थितों को चेयरमेन द्वारा दी गई। किसानों को भी अपनी बात रखने का अवसर दिया गया जिसमें किसानों ने अपनी अपनी समस्या व सुझाव रखे। चेयरमेन चंद्रमौली शुक्ला ने स्वयं के पूर्व अनुभव भी बताए जिस तरह से इंदौर में इसी तरह के कारिडोर बने है औरा किसानों ने स्वयं व अपने भविष्य को संवारा है। चेयरमेन श्री शुक्ला ने कहा कि जमीन देना आपका निर्णय है किंतु आपके व शहर के विकास के लिए आपको आगे आना होगा। अपनी जमीन के बदले में विकसित भूखंड विकास प्राधिकरण दे रहा है। आपके निर्णय पर योजना का क्रियान्वयन होगा। वर्तमान में किसी ओर को जमीन नहीं देते स्वयं अपने भविष्य में उसी जमीन के विकसित भूखंड से दस गुना अपने आप को विकसित कर सकेंगे। योजना में सम्मिलित किसानो के हित को देखते हुए उन्हें यथा संभव उन्ही की भूमि पर विकसित प्लाट (भूखंड) आवंटित किये जायेंगे। चेयरमेन श्री शुक्ला द्वारा विस्तृत जानकारी उपस्थित किसान बंधुओं के समक्ष रखी तथा योजना से भू स्वामियों को होने वाले लाभ एंव योजनाओं की विशेषताएं भी बताई गई। चेयरमेन ने यह भी कहा कि इस योजना से निवेश तथा रोजगार के बेहतर अवसर उपलब्ध होंगे। सड़कों के निर्माण से भूखंडों के मूल्यों में वृद्धि होगी और आपको आवंटित भूखंडों की गाइडलाईन दर में भी वृद्धि होगी। साथ ही विकसित भूखंडों में पानी, सिवरेज, बिजली की बेहतर सुविधा भी उपलब्ध रहेगी जो आपको सीधे प्राप्त होगी। चेयरमेन के द्वारा सवाल का जवाब देते हुए यह भी कहा गया कि योजना का संपूर्ण विकास नहीं होगा तब तक किसानों को उक्त आवंटित भूमि की तोजी भी विकास प्राधिकरण देगा। उक्त योजना में 20 से 25 किसानों ने एग्रिमेंट हेतु सहमती भी दी है। चेयरमेन ने कहा कि किसान बंधु अपनी भूमि का भू अर्जन करावें। इसी के साथ अंत में मुख्य कार्यपालन अधिकारी विशालसिंह चौहान ने सबका आभार व्यक्त किया। 

Comments

Popular posts from this blog

मध्यप्रदेश की विधानसभा के विधानसभावार परिणाम .... सीधे आपके मोबाइल पर | election results MP #MPelection2023

हाईवे पर होता रहा मौत का ख़तरनाक तांडव, दरिंदों ने कार से बांधकर युवक को घसीटा

क्या देवास में पवार परिवार के आसपास विघ्नसंतोषी, विघटनकारी असामाजिक, अवसरवादियों सहित अवैध व गैर कानूनी कारोबारियों का जमघट कोई गहरी साजिश है ? या ..... ?