कृषि उद्योगों की आवश्यकताओं की पूर्ति किसान ही कर सकता है-कृषि मंत्री





खरगोन:- प्रदेश के कृषि, उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण मंत्री सचिन यादव ने शनिवार को कसरावद में आयोजित हो रहे दो दिवसीय चिली फेस्टिवल और विशाल प्रदर्शनी का शुभारंभ किया। इस दौरान उन्होंने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि कृषि आधारित उद्योगों की आवश्यकताओं और जरूरतों की पूर्ति केवल किसान कर सकता है। इस दो दिनी चिली फेस्टिवल में किसान उद्योगों की आवश्यकताओं को समझे और उनकी मांग पूरी करने की तकनीक इस चिली फेस्टिवल के माध्यम से वैज्ञानिकों से सीख और समझ सकता है। सरकार कृषि को नए परिप्रेक्ष्य में देख रही है। सरकार ने कृषि फसलों को चिन्हांकित करके उन पर कार्य करना प्रारंभ कर दिया है। अब सरकार कृषि की संरचनाएं, बाजार और खाद्य प्रसंस्करण की दिशा में बढ़ चुका है। कृषि के क्षेत्र में निवेश के नए रास्ते सामने आ रहे है। इसके अलावा कृषि फसल के भंडारण की दिशा में महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए है। कृषि से जुड़ी तमाम संरचनाओं की व्यवस्थाएं जुटाने के लक्ष्य तय किए है। जब तक किसान कृषि की नवीन तकनीकों और बाजार तथा उद्योगों की आवश्यकताओं को नही समझेगा। किसान को कृषि की नवीन तकनीकों का माईंड सेट तैयार करना होगा। इस दिशा में चिली फेस्टिवल और मक्का महोत्सव महत्वपूर्ण साबित होंगे। इस दौरान पुलिस अधीक्षक सुनील पांडेय, जिला पंचायत सीईओ डीएस रणदा , एसडीएम  नेहा शिवहरे सहित अन्य जनप्रतिनिधि और कृषि वैज्ञानिक उपस्थित रहे।

 

उद्देश्य किसानों की मेहनत और परिश्रम को साधन तथा संसाधन देना

 

कृषि मंत्री यादव ने कहा की उद्देश्य यही है कि मेहनतकश किसानों के परिश्रम को नया आयाम देना है। किसान इस भव्य फेस्टिवल में वैज्ञानिकों से चर्चा कर वायरस या अन्य कृषि की जरूरतों पर बात करें, समझे यह अवसर है कृषि ज्ञान का। कृषि मंत्री यादव ने किसानों से कहा कि ज्यादा उत्पादन में हमारी भूमि के स्वास्थ्य का भी पूरा पूरा धयान रखे और बराबर उसकी उत्पादकता शक्ति को जाने। खेती की उत्पादकता के लिए अब जैविक खेती के लिए अच्छा समय आ गया है। इस फेस्टिवल को किसान की जरूरत के अनुसार ही आयोजित किया गया है। यहां से बहुत कुछ जाना और समझा जा सकता है। किसान आपस में जुड़े और एक ही किस्म की उपज ले। यदि आप लोगों के पास किसी कंपनी की जरूरत के मुताबिक उपज और क्वालिटी है, तो कंपनी आपके पास आएगी और आपसे उपज खरीदने के लिए मजबुर होगी।

 

विशाल प्रदर्शनी का भी शुभारंभ किया

 

कृषि मंत्री सचिन यादव ने आयोजन स्थल पर ही विशाल कृषि प्रदर्शनी का भी शुभारंभ किया। इस प्रदर्शनी में देश की उन तमाम कंपनियों ने स्टॉल लगाए है, जो कृषि के क्षेत्र में बड़ा नाम और मकाम रखती है। यहां किसानों ने न सिर्फ अच्छी क्वालिटी के खाद-बीज, कीटनाशकों को जाना, बल्कि नई-नई वैराईटियों के लिए कंपनियों के प्रस्तावों पर भी चर्चा कर रहे है। किसान इस प्रदर्शनी में उन यंत्रों को भी देख और उनके उपयोग को भी समझ रहे है, जिनकी आज आवश्यकता होने लगी है। दो दिवसीय चिली फेस्टिवल में पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण यादव, भगवानपुरा विधायक केदार डावर, बड़वाह विधायक सचिन बिरला, मांधाता विधायक  नारायण पटेल और नेपानगर विधायक सुमित्रा कास्डेकर एवं कलेक्टर गोपालचंद्र डाड ने भी संबोधित किया।

 

खरगोन के पर्यटन पर आधारित सीडी का हुआ विमोचन

 

दो दिवसीय चिली फेस्टिवल के दौरान कृषि मंत्री सचिन  यादव सहित अन्य विधायकों, अधिकारियों व वैज्ञानिकों ने खरगोन के पर्यटन पर आधारित सीड़ी और उद्यानिकी विभाग द्वारा मिर्च को लेकर विभिन्न प्रकार की पुस्तिकाओं का विमोचन किया। कार्यक्रम के शुभारंभ के दौरान उद्यानिकी आयुक्त एम. काली दुरई ने स्वागत संबोधन में कार्यक्रम की रूपरेखा तथा विभाग की आगामी प्रारूप के बारे में जानकारी दी।


 

 



 

Comments