कोतवाली थाना पुलिस ने किया हत्या का खुलासा........

प्रेमी व प्रेमिका ने बनाई थी योजना : प्रेमिका उसकी दोस्त के साथ ब्लाउज सिलवाने के बहाने से गई और गला घोंटकर कर दी थी हत्या


 

देवास। तीन दिनों पूर्व शनिवार शाम को हैबतराव मार्ग पर एक महिला घर में मृत अवस्था में मिली थी। सूचना मिलते ही मौके पर कोतवाली थाना पुलिस पहुंची और शव को जिला चिकित्सालय भेजा गया था। जहां महिला के शव का रविवार सुबह पोस्टमार्टम हुआ था। शार्ट पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर पता लगा था कि मृतिका की मौत गला घोंटने से हुई थी। जिस पर पुलिस ने अज्ञात आरोपियों के खिलाफ अपराध दर्ज कर प्रकरण को पंजीबद्ध किया था। इस मामले में जब मृतिका के परिजन जिला चिकित्सालय आए तो उन्हें पता पता चला था कि मृतिका ने तीन माह पूर्व ऐसे व्यक्ति से शादी कर ली थी जिसकी 14 वर्ष पूर्व शादी हो चुकी है और 3 बच्चों का पिता भी है। इस मामले में पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया था। जिनसे सख्ती से पूछताछ की गई जिसमें पता चला कि जिस व्यक्ति ने मृतिका से शादी की थी उसकी और एक प्रेमिका और भी है। युवक व उसकी प्रेमिका ने मिलकर साजिश रची और महिला को मौत के घाट उतार दिया। इस मामले को लेकर कोतवाली थाना पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। 

कोतवाली थाना पुलिस ने बताया कि शनिवार शाम को केदारेश्वर मेडीकल के संचालक बबलू उर्फ नरसिंहदास पर्मार्थी अपनी दूसरी पत्नी रानी उर्फ राजू मालवीय उम्र 23 साल नि. ग्राम बर्छापुरा जिला सिहोर हाल मुकाम अखाडा रोड को मृत अवस्था में जिला चिकित्सालय लाया था। जहां डॉक्टर ने महिला का मृत घोषित कर दिया था। जिस पर पुलिस ने मर्ग कायम कर प्रकरण को जांच में लिया था। रविवार सुबह मृतिका का पोस्टमार्टम किया गया। जहां शार्ट पीएम रिपोर्ट में मेडीकल टीम ने मृतिका रानी की मौत गला घोटकर होना पाया। जिस पर पुलिस ने अज्ञात आरोपियों के खिलाफ धारा 302 के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर मामले को विवेचना में लिया था। प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए कोतवाली थाना पुलिस ने टीम गठित की और महिला के पति से सख्ती से पूछताछ की गई। जिसमें सच सामने आया उसके बाद पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर हत्या में प्रयुक्त दुपट्टा व तकिया जब्त किया।



इस तरह योजना बनाकर मारा 

पुलिस ने बताया कि बबलू की नीलम से 14 वर्ष पूर्व शादी हो चुकी थी वह 3 बच्चों का पिता है। बबलू की केदारेश्वर मेडीकल शॉप है वहां पर काम करने वाली रानी से उसने 3 माह पूर्व शादी कर उसे एक किराये के मकान में अलग रखा था। जिसके कारण बबलू का परिवार नाराज था और बबलू दु:खी था। बबलू की एक अन्य प्रेमिका रीतू भी है जो पहले से शादीशुदा होकर 7 वर्ष की बच्ची की माँ भी है। जिससे बबलू का चोरी छुपे प्रेम प्रसंग गत 6 वर्ष से चल रहा था। पुलिस ने बताया कि वह मणीराम ज्वैलर्स पर काम करती है और बबलू के घर भी सोना चांदी के समान लेकर आना जाना करती है। प्रेमिका रीतू व प्रेमी बबलू दोनों रानी को अपने प्रेम के रास्ते से हटाना चाहते थे। जिसकी योजना दोनो करीब 1 माह से तैयार कर रहे थे। 7 अगस्त को प्रेमिका रीतू अपनी साथी कर्मचारी बचपन की दोस्त प्रियंका के साथ मिलकर ब्लॉउज सिलवाने के बहाने से रानी के घर पहुंची। जहां रानी का अकेले पाकर दोनों ने हाथ व दुपट्टे से गला घोंटकर रानी की हत्या कर लाश वही छोड़ दी। बबलू की दुसरी पत्नी रानी की हत्या के बाद प्रेमिका रीतू ने प्रेमी बबलू के घर जाकर अपने प्रेम की दुश्मन रानी को मारने की बात बताई। जिसके बाद बबलू अकेले अपनी दुसरी पत्नी रानी के घर पहुंचा और रानी के शव को ऑटो से एमजीएच ले गया। जिला चिकित्सालय में डॉक्टर को झुठी सूचना दी कि रानी बेहोश हो गयी है। 

इन आरोपियों को किया गिरफ्तार 

पुलिस ने बबलू उर्फ नरसिंहदास परमार्थी उम्र- 33 साल नि. 119 हेबतराव मार्ग, रीतू गौर पति सचिन चौहान उम्र 30 साल नि. तगारा बाखल, प्रियंका पति महेन्द्र कुश्वाह उम्र 32 साल नि. झालाराम नगर देवास को गिरफ्तार किया है। 

इनका रहा सराहनीय कार्य

उक्त कार्य में थाना प्रभारी कोतवाली एमएस परमार, उनि पवन यादव, उनि कृष्णा सूर्यवंशी, उनि हर्ष चौधरी, सउनि संजय तंवर, प्रआर मनोज पटेल, प्रआर रवि गरोडा, प्रआर पवन पटेल आर. मनीष देथलिया का सराहनीय योगदान रहा। उक्त टीम को पुलिस अधीक्षक के द्वारा नगद इनाम देने की घोषणा की गई।


Comments