भक्ति एवेन्यू कॉलोनी में बनी जलजमाव की स्थिति, कॉलोनाईजर व परिवार बाल-बाल बचे ...

 कॉलोनी में पानी की निकासी नहीं होने से बारिश में जम जाता है पानी



देवास। पिछले दो दिनों से बारिश का अनवरत दौर जारी है, जिसके चलते शहर कह कई निचले क्षेत्रों में जलजमाव की स्थिति निर्मित हो गई। वहीं कई कॉलोनियों में भी बारिश के पानी की निकासी नहीं होने से जलजमाव की स्थिति निर्मित हो गई। इसी के तहत शहर के मक्सी रोड़ बायपास मार्ग पर बनी कुछ कॉलोनियों में जलजमाव की बन गई थी। कहा जाए तो यहां पर कॉलोनाईजरों ने इस प्रकार से कॉलोनी काटी है जिसमें जलजमाव की स्थिति निर्मित होने पर पानी की निकासी नहीं है, ऐसी ही कॉलोनियों में भक्ति एवेन्यू कॉलोनी बनी है जहां पर कई लोगों ने प्लॉट लेकर मकान बनाए हैं लेकिन बारिश के चलते यहां पर लगभग 6 फीट पानी भर गया था। इस प्रकार के जलजमाव की स्थिति का जायजा लेने के लिए कॉलोनी के मालिक अपने परिवार के साथ कार से पहुंचे तो उनकी कार भी डूबते हुए बची जिसे काफी मशक्कत से ट्रेक्टर से खिंचवाकर बाहर किया गया। अगर कार को सही समय पर बाहर नहीं निकाला होता तो रविवार को हुई सावन की बारिश में भक्ति एवेन्यू के मालिक व परिवार के साथ हादसा हो सकता था। जब कॉलोनी बनाने वाले मालिक के साथ इस प्रकार का हादसा होते हुए टला है तो रहवासियों की स्थिति को समझा जा सकता है। 



पिछले दो दिनों से हो रही अनवरत बारिश के चलते शहर की कई निचले क्षेत्रों में जलजमाव की स्थिति बन गई है। इसी बीच मक्सी रोड़ स्थित भक्ति एवेन्यू कॉलोनी जिसका निर्माण शहर में प्रचलित दीपक मन्नूलाल गर्ग ने किया है। इस कॉलोनी को बनाने के बाद यहां पर कई लोगों ने मकान बनाए हैं साथ ही और भी अन्य लोग मकान बना रहे हैं। रविवार को यहां पर लगभग 6 फीट तक पानी का भराव देखा गया था। यहां रहने वाले लोगों को जललमाव होने से काफी परेशानियां उठाना पड़ी थी, यहां तक की आरएसएस के कुछ कार्यकर्ता यहां पर पहुंचे और दूध, व खाद्या समाग्री यहां निवासरत लोगों का दी गई। जलजमाव की सूचना जब कॉलोनाईजर मन्नूलाल गर्ग को लगी तो वे उनके परिवार के साथ यहां पर उनकी कार से पहुंचे थे। जहां जलजमाव के बीच उनकी कार फंस गई थी। जिसके बाद उनकी कार को निकालने के लिए ट्रेक्टर को बुलाया और फिर कार को निकाला जा सका था। कहा जाए तो रविवार को मन्नूलाल गर्ग पर परिवार बाल-बाल बचे नहीं तो बड़ा हादसा हो जाता। वहीं मन्नूलाल गर्ग के साथ आए नवयुवकों ने बताया कि हमारे यहां पानी की निकासी है लेकिन आगे पेट्रोल पम्प के पास नाले में से निकासी परस्पर नहीं हो रही है जिसके कारण हमारी कॉलोनी में पानी जम गया।



बड़ी मुश्किल से बचते-बचाते मामाजी को लेने रोड़ पर आए......

जब कॉलोनाईजर के साथ हादसा होते हुए बचा है तो फिर यहां निवासरत लोगों के साथ कितनी मुसीबतें होंगी यह समझा जा सकता है ? वहीं यहां पर निवासरत ललित जोशी ने बताया कि आवास नगर, एबी रोड़ से पानी बहकर यहां जम जाता है जिसके कारण गत वर्ष भी यहां पर जलजमाव की स्थिति निर्मित हुई थी। शनिवार से लगातार बारिश होने से उनके घर में भी पानी घुस गया था। उन्होनें बताया कि उनके मामाजी व मामी जो सांरगपुर से रविवार होने के चलते मिलने आए थे, वे एक घंटे तक पानी उतरने का इंतजार करते रहे ललित जोशी ने बताया कि कॉलोनी से बाहर निकलकर बड़ी मुश्किलों से आए हैं उन्होनें बताया की कॉलोनी के मार्ग पर कई जगह चेंबर भी खुले हुए हैं। जिसके कारण डंडा लेकर बचते-बचाते हुए वे उनके मामाजी के पास पहुंचे थे। 

जमीन के लिए मकान करवा दिए खाली....

बताया जाता है कि भक्ति एवेन्यू के मालिक दीपक गर्ग ने इस कॉलोनी से कुछ ही दूरी पर एक जमीन खरीदी है जहां पर कॉलोनी बनाने की योजना उन्होनें बनाई थी। लेकिन यहां पर कुछ लोगों के मकान पहले से बने हुए थे। जिन्हें खाली कराने के लिए कॉलोनाईजर को प्रशासन की मदद लेना पड़ी और गरीबों के मकान खाली करवा दिए। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार एक जिम्मेदार अधिकारी ने गरीबों से मकान खाली करवाने लिए मकान गलत और नक्शे के विपरित होने पर तोडऩे के आदेश दिए थे। जबकि बताया गया है कि उक्त मकान मालिकों को शासन ने ही प्रधानमंत्री योजना के तहत ऋण उपलब्ध कराया था। अब ऐसे में गरीबों के सिर से छत हट गई और वह लोग बेघर हो गए। कहा जाए तो अधिकारी को लाभ मिल जाने पर कॉलोनाईजर का काम आसान कर दिया। 





Comments