गांव के मुखिया को क्यों बैठाया उल्टे मुंह गधे पर ?


   
 गांव के मुखिया को क्यों बैठाया उल्टे मुंह गधे पर ?



रतलाम । मध्यप्रदेश के कई हिस्सों में अभी तक पूर्व वर्षों के अनुसार बारिश नही हुई है। वहीं बारिश होने की कामना के लिए अलग- अलग स्थानों पर अलग-अलग टोटके किये जा रहे हैं। कहीं बाग रसोई तो कहीं कुछ अनोखे रीति रिवाज। बात की जाए रतलाम की तो यहां जिले के जावरा में  गांव सरसी में जहां बारिश के लिए अजीबो- गरीब -टोटके का सहारा लिया जा रहा है इतना ही नहीं भगवान इंद्रदेव को प्रसन्न करने के लिए तमाम जतन किए जा रहे हैं। 

दरअसल रतलाम जिले में सोयाबीन की बुआई के बाद मानसून की बेरुखी से परेशान ग्रामीणों ने अब टोटकों का सहारा लेना शुरू कर दिया है ? रतलाम जिले के गांव सरसी में बारिश के लिए ग्रामीणों ने गांव के सरपंच एवं गांव के मुखिया को गधे पर बैठाकर घुमाया । 

ग्रामीण क्षेत्रों में मान्यता है कि बारिश नहीं होने पर इंद्र देव को प्रसन्न करने के लिए गांव के मुखिया द्वारा गधे की सवारी कर देवी देवताओं का पूजन करने से अच्छी बारिश होती है गांव के सरपंच प्रतिनिधि राजेश चत्तर एवं मुखिया विनोद पटेल को गधे की सवारी कराई गई । यह सवारी ढोल धमाके के साथ निकली इसके बाद गांव के लोगों ने देवी देवताओं की पूजा अर्चना कर अच्छी बारिश की प्रार्थना की । यह सवारी सरसी के राजा हनुमान मन्दिर से प्रारम्भ हुई एवं पुरे गाँव में घूमकर  शमशान पहुंची । गधे की सवारी की शोभायात्रा निकालने वाले ग्रामीणों ने बताया कि पुराने दौर में बारिश नहीं होने पर रूठे इंद्रदेव को मनाने के लिए गांव के राजा गधे पर बैठकर सवारी करते थे और देवी देवताओं की पूजा कर बारिश के लिए प्रार्थना करते थे, वर्तमान के दौर में गांव के सरपंच और मुखिया ही प्रमुख होते हैं, इसलिए इंद्रदेव को मनाने के लिए गधे की सवारी निकाली जा रही है। गांव वालों की आस्था है कि इस तरह का टोटका करने से रूठे इंद्रदेव अच्छी बरसात करेंगे। 

बहरहाल लंबे समय से बारिश ना होने से परेशान किसान अपनी मुरझाई फसलों को देख तरह-तरह के टोटके करने पर मजबूर है । इन्हीं टोटकों से ग्रामीणों को उम्मीद है कि जल्द ही अच्छी बरसात होगी जिससे उनके मूर्झाती फसलों को राहत मिलेगी..? 


Comments