पटवारी की हत्या का ट्राएंगल, प्रेमिका की शादी से नाराज था आरोपी, कर दी हत्या ....! पुलिस ने किया 24 घंटे में खुलासा ...


पिछले दिनो मिले पटवारी के शव के बाद पुलिस ने ताबड़तोड़ कार्यवाही करते हुए 24 घंटे में खुलासा किया। पुलिस ने इस प्रकरण में प्रेस वार्ता कर खुलासा किया । पुलिस अधीक्षक डॉ शिवदयाल सिंह गुर्जर ने बताया कि दिनांक 10.12.21 को थाना बैंक नोट प्रेस देवास पुलिस को सूचना मिली कि एक अज्ञात व्यक्ति का शव संदिग्ध अवस्था में यू.जी.सी. वेयर हाउस के सामने देवास भोपाल रोड पुलिया के नीचे ग्राम जेतपूरा में पडा है । थाना प्रभारी बैंक नोट प्रेस देवास द्वारा तत्काल मय फोर्स रवाना होकर घटनास्थल पर पहुंचकर घटनास्थल का निरीक्षण किया गया । उक्त शव की पहचान सोनकच्छ तहसील के पटवारी नीरज पिता कमल सिहं पर्ते उम्र 33 साल निवासी अर्जुन नगर देवास की पहचान हुई । पोस्टमार्टम रिपोर्ट में धारदार हथियार से गले के यहां पर चोट होने व उससे मृत्यु होना पाया गया । आरोपी के विरुद्ध अपराध धारा 302.201 भादवि का कायम कर 24 घण्टें के अन्दर आरोपी अनिल कुमार सरयाम का पता लगाया जाकर गिरफ्तार कर घटना के समय पहनी गई रक्तरंजित जर्किन तथा आरोपी का मोबाईल जप्त किया गया । आरोपी को गिरफ्तार को कोर्ट पेश किया जा रहा है । गिरफ्तार आरोपी का नाम अनिल कुमार पिता जगदीश प्रसाद सरयाम जाति गौड उम्र 31 वर्ष निवासी ग्राम गेलपूर थाना उमरावगंज जिला रायसेन बताया गया है । 





जानकारी अनुसार मामले में अवैध संबंध होने का भी जिक्र पुलिस अधीक्षक ने किया है। उन्होंने बताया कि मृतक की पत्नी ने आरोपी को अपना करीबी रिश्तेदार भी बताया है। हालांकि यह अभी जांच का विषय है । फिलहाल पुलिस सभी बिंदुओं पर जांच कर रही है। आगे भविष्य में यदि मृतक की पत्नी या अन्य कोई इस प्रकरण में संलिप्त पाया जाता है तो उसे भी आरोपी बनाया जाएगा ।

जानकारी अनुसार इस प्रकरण में आरोपी ने मृतक से मित्रता करने का भी जिक्र किया है। बता दें मृतक का विवाह हुए अभी 2 सप्ताह ही हुए हैं। इसी मामले में एक पहलू यह भी सामने आया है कि आरोपी को उसकी प्रेमिका की शादी नागवार लगी जिसके बाद उसने यह हत्या कारित की। हालांकि अभी इस मामले में जांच जारी है। 


सराहनीय कार्य : उपरोक्त सराहनीय कार्य में उप निरीक्षक मुकेश ईजारदार उनि . रमेशचन्द्र कलथिया , सउनि मनोजपटेल , सउनि अजय साहनी सउनि जफर खान , सएनि भुवानसिहं चौहान , प्रधान आरक्षक राहुल सिहं चावडा , आरक्षक रामप्रतापसिंह , सैनिक भगवान सिंह एवं प्रआर सचिन , आर शिव प्रताप सिंह सेंगर की अहम भूमिका रही है ।

Comments