निजी भूमि पर अतिक्रमण बताकर फसल को कर दिया नष्ट, कलेक्टर व सीएम हेल्पलाइन पर की शिकायत







देवास। शासकीय भूमि पर कब्जा कर मकान बनाकर खेती करने वाले पर कार्यवाही नही करते हुए प्रशासन द्वारा निजी भूमि से अतिक्रमण हटाकर फसल को नष्ट किए जाने की शिकायत ग्राम सांवेर तहसील सोनकच्छ निवासी मांगीलाल मालवीय ने जिलाधीश से आवेदन देकर की।

 शिकायतकर्ता ने बताया कि मेरी कृषि भूमि सर्वे नं. 126/1 रकबा 1.4200 हेक्टेयर जो कि शासकीय गोहा सर्वे नं. 79 के दक्षिण की सीमा से लगी हुई है। जिस पर मेरे पुर्वज उनके जीवनकाल से काबिज होकर कृषि कार्य करते आ रहे है। लेकिन ग्राम के ही नानूराम जाट और अन्य लोगों ने शासकीय भूमि पर अतिक्रमण कर खेती कर रहे है। लेकिन स्थानीय प्रशासन तहसीलदार एवं राजस्व विभाग के अधिकारियों ने अतिक्रमण कर्ताओं का कब्जा हटाने की बजाय मेरी निजी भूमि से अतिक्रमण हटाते हुए मेरी फसल को जेसीबी से नष्ट कर दिया। शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया कि नानुराम के इशारे मेरी कृषि भूमि की दो बार नपती की गई, जिसके अंतर्गत पहले वाली नपती सही की गई थी, परन्तु फिर दोबारा नपती कर मेरी कृषि भूमि पर अतिक्रमण बताकर कब्जा कर लिया।
 
राजस्व विभाग ने शासकीय गोहा सर्वे नं. 79 को रोड से अतिक्रमण हटाए हुए नही लाया गया और ना ही उत्तर की तरफ से अतिक्रमण हटाया गया। कब्जा यदि हटाना था तो दोनो तरफ से बराबर हटाना था। कुमारिया राव का जो गोहा है उसे भी पूरी तरह शासकीय न्यायालय तक हटाया जाए। 


पीड़ित किसान ने मांग की है कि में राजस्व निरीक्षक और पटवारी की नपती से संतुष्ट नही हूँ। पीड़ित किसान ने इसकी शिकायत सीएम हेल्पलाइन पर भी कर रखी है। इसलिए निष्पक्ष जांच करवाकर शासकीय भूमि को रोड से कब्जा हटाया जाए, जिससे में तनाव मुक्त होकर मेरी कृषि भूमि पर खेती कर सकू।


Comments

Popular posts from this blog

मध्यप्रदेश की विधानसभा के विधानसभावार परिणाम .... सीधे आपके मोबाइल पर | election results MP #MPelection2023

हाईवे पर होता रहा मौत का ख़तरनाक तांडव, दरिंदों ने कार से बांधकर युवक को घसीटा

टोंकखुर्द में कुंड में नहाने गये युवक की डूबने से मौत