भिंड-मुरैना के डकैतों ने पुंजापुरा में डाली डकैती, जंगल में छिपे, पुलिस से मुठभेड़ में कुछ डाकू मारे गए


पुंजापुरा। देवास जिले के दूरस्थ आदिवासी क्षेत्र पुंजापुरा के जंगल में इन दिनों महिला नवआरक्षकों की ट्रेनिंग चल रही है। जहां पीटीएस उज्जैन की लगभग 350 महिला नव आरक्षक (महिला पुलिसकर्मी)जंगल में सचिंग एवं बुश लगाकर डकैत, नक्सली एवं आतंकवादियों को ढेर कर मार गिराना एवं अन्य गतिविधियां सीख रही रही है। किसी भी अपात स्थिति से निपटने के लिए उन्हें जंगल मे कैम्प लगाकर यह ट्रेनिंग दी जा रही है। दरअसल बदमाशों के ठिकानों में घुसकर कैसे रेड की जाती है, अगर गांव में नक्सली घुस जाए तो उन्हें कैसे दबोचा/पकड़ा जाता है। साथ ही बदमाशों से निपटने के तरीके महिला नवआरक्षक सीख रही है। इसकी बाकायदा मॉक ड्रिल की जा रही है।ये महिला नव आरक्षक उज्जैन जोन की है।पुलिस प्रशिक्षण शाला उज्जैन की पुलिस अधीक्षक रश्मि पांडे के मुताबिक महिला नव आरक्षक पुरुष नवआरक्षक के बराबर कार्य कर रही है और आगे भी करती रहेगी। पुलिस प्रशिक्षण शाला उज्जैन द्वारा पुलिस अधीक्षक रश्मि पांडेय के आदेशानुसार दस दिवसीय जंगल कैंप प्रशिक्षण करीब 350 महिला एवं इतने ही पुरुष नव आरक्षकों को दिया जा रहा है। 17 दिसंबर से शुरू हुआ यह प्रशिक्षण देवास जिले के घने जंगलों में दिया जा रहा है। इसमें नव आरक्षकों को रेड, गांव का घेराव, सचिंग, कांबिंग, एक्शन, काउंटर एक्शन, सेंड माडल बनाकर आसपास के क्षेत्र की भौगोलिक जानकारी दी जाती है। साथ ही गांव के लोगों को स्वच्छता एवं जागरुक रहने के लिए भी 20 सदस्यी टीम द्वारा प्रशिक्षण दिया जा रहा है।


Comments