लोकतंत्र में राजनीति का गिरता स्तर, जिला योजना समिति से शुरु हुई कहानी पंहुची पथराव तक, कांग्रेसी कार्यकर्ताओं की गुण्डागिर्दी ?

प्रभारी मंत्री देवास पंहुचे थे प्रेस वार्ता के लिए, भाजपा के कार्यकर्ता आए थे काले झंडे दिखाने 


देवास। पिछले सप्ताह हुई जिला योजना समिति में सांसद महेन्द्रसिंह सोलंकी और प्रभारी मंत्री जीतू पटवारी के बीच हुई बहस के बाद शहर में कई नाट्यक्रम देखने को मिले। उक्त घटना के बाद कांग्रेस और भाजपा ने अपने अपने स्तर पर रैली और ज्ञापन दिये। कांग्रेस ने प्रभारी मंत्री के अपमान और भाजपा ने सांसद के अपमान एक दूसरे के द्वारा किये जाने हेतु परस्पर ज्ञापन दिये। आज प्रभारी मंत्री एक निजी होटेल में प्र्रेस वार्ता को संबोधित करने आये थे।



जिसके पूर्व भाजपा के कार्यकर्ता प्रभारी मंत्री को काले झण्डे दिखाने के लिए एकत्रित हुए थे। इस दौरान उनके द्वारा की गई नारेबाजी कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को रास नहीं आई। कांग्रेसी कार्यकर्ता व भाजपा कार्यकर्ता एबी रोड़ के अलग- अलग ओर खड़े हुए थे। भारी पुलिस बल होने के बावजूद कांग्रेसी कार्यकर्ता उन्हें खींचते हुए रोड़ के अगली ओर खड़े भाजपा के कार्यकर्ताओं पर टूट पड़े। इतना ही नही उधर खडे़ कार्यकर्ताओं पर पत्थर भी बरसाना शुरु हो गये। कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के साथ उपस्थित विधायक मनोज चौधरी उन्हें मना करते रहे लेकिन उन्होंने एक नही सुनी। कार्यकर्ता इतने उत्साहित हो गए कि उन्हें दूसरी ओर खड़ी जनता भी भाजपा कार्यकर्ता नजर आने लगी। वहीं इस दौरान भारी भय का वातावरण निर्मित हो गया। वहां मौजूद कई आम नागरिकों तथा आसपास के दुकानदारों का जरा भी ध्यान कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने नही दिया। इस प्रकार की हरकत को आम नागरिक कांग्रेस की गुण्डागिर्दी कह रहे हैं। ऐसे में कोई गंभीर स्थिति यदि निर्मित हो जाती तो इसका कौन जिम्मेदार था। हालांकि पुलिस ने अपना कार्य निभाते हुए मामले को शांत किया। लेकिन क्या पुलिस इस मामले में कोई अपराध दर्ज करती है अथवा नही ? यह प्रश्न का विषय है। 



देर शाम भाजपा कार्यकर्ता ने दिया औद्योगिक थाने पर आवेदन
भाजपा के कार्यकर्ताओं पर पथराव करने पर कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के विरुध्द भाजपा के अजय तोमर ने औद्योगिक थाने पर जाकर वरिष्ठ पदाधिकारियों की उपस्थिति में एक आवेदन दिया जिसमें कांग्रेस के कार्यकर्ताओं द्वारा पथराव करने से उनके गंभीर घायल होने का उल्लेख है। 


मामले में प्रभारी मंत्री ने दिया अपना बयान 
इस मामले में जिले के प्रभारी मंत्री ने कहा कि किसी भी प्रकार की हिंसा, किसी भी प्रकार का लोकतंत्र में ऐसा व्यवहार जो जनता के लिए ठीक न हो वह किसी भी राजनैतिक कार्यकर्ता के लिए ठीक नही है। राजनैतिक विरोधाभास चलते रहेंगे लेकिन कांग्रेस पार्टी इस प्रकार की गतिविधियों के लिए सपोर्ट नही करती है। 


Video -



माफिया मुक्त मध्यप्रदेश अभियान के संदर्भ में प्रभारी मंत्री ने ली प्रेसवार्ता


माफिया मुक्त् मध्यप्रदेश अभियान आगे भी जारी रहेगा- प्रभारी मंत्री जीतू पटवारी


प्रदेश के उच्च शिक्षा तथा खेल एवं युवा कल्याण मंत्री तथा देवास जिले के प्रभारी मंत्री जीतू पटवारी ने शुक्रवार को देवास में माफिया मुक्त मध्यप्रदेश अभियान के संबंध में प्रेसवार्ता ली। इस अवसर पर उन्होंने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि माफिया मुक्त मध्यप्रदेश अभियान सतत रूप से आगे भी जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि इस अभियान की आमजन व मीडिया द्वारा सराहना की गई है। अभियान में किसी के विरूद्ध दुर्भावना वश गलत कार्यवाही नहीं की जाएगी, किंतु जो सही कार्यवाही होगी उसे रोका भी नहीं जाएगा।


 मंत्री पटवारी ने कहा कि प्रदेश में 11 प्रकार के विभिन्न माफिया चिंहित किए गए हैं। इनमें वसूली माफिया, भू माफिया, ट्रांसपोर्ट, शराब, ड्रग्स माफिया, ब्लेक मैल माफिया, मिलावट माफिया, माइनिंग माफिया आदि शामिल है। उन्होंने कहा कि रोजमर्रा की चीजें जैसे दूध, घी में मिलावट की जा रही है, जिससे आम आदमी को जहर खाना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि आम आदमी मेहनत की कमाई से मकान बनाने के लिए प्लाट खरीदता है और बरसों लोन की किश्त भी भरता है किंतु जब उसे प्लाट पर कब्जा नहीं मिलता है तो कैसा महसूस होता है, ये हम सब जान सकते हैं। उन्होंने कहा कि माफिया मुक्त मध्यप्रदेश अभियान के तहत सरकार द्वारा बिना किसी भेदभाव के कार्यवाही की जा रही है। यदि किसी के विरूद्ध कोई गलत कार्यवाही हो तो अवगत कराया जाए। ऐसे मामलों में संबंधित अधिकारियों के विरूद्ध कार्यवाही भी की जाएगी।


पटवारी ने कहा कि माफिया के विरूद्ध अभियान संचालन का सरकार का उद्देश्य प्रदेश में अपराध एवं अपराधियों के विरूद्ध अभियान चलाकर कार्यवाही करना है। उन्होंने कहा कि माफिया कितना भी बड़ा हो बिना किसी दबाव के और जाति, धर्म के भेदभाव से ऊपर उठकर कार्यवाही की जाएगी। मंत्री पटवारी ने कहा कि सरकार की मंशा है कि आमजन व पीड़ितों को न्याय मिले। उन्होंने माफिया मुक्त मध्यप्रदेश अभियान में मीडिया की भूमिका की सराहना की और कहा कि मीडिया द्वारा माफिया के विरूद्ध की गई कार्यवाही को व्यापक स्तर पर प्रकाशित किया गया है। उन्होंने मीडिया द्वारा मुहिम में सहयोग के लिए धन्यवाद भी ज्ञापित किया। पटवारी ने इंदौर और देवास जिले में विभिन्न प्रकार के माफियाओं के विरूद्ध की विस्तृत जानकारी भी दी।


Comments

Popular posts from this blog

श्री शिवाय नमस्तुभ्यं मंत्र का करें जाप हो जायेगा जीवन का कल्याण

पहले दोनों हाथ काटे, फिर फंदे पर झुलाया और ऐसे बाप ने उतार दिया बेटे को मौत के घाट ! जघन्य हत्याकांड में काम आई पुलिस की स्मार्ट पुलिसिंग ! First cut off both hands, then hanged him on the noose and such a father put his son to death! Smart policing of the police came in handy in the heinous murder case!

क्या आपका वाहन भी हुआ है चोरी, देखें कहीं आपका वाहन तो नही है लिस्ट में.... पुलिस ने जारी की चोरी के पकड़े गए वाहनों की सूची